Rcm salt benefits, rcm salt vs tata salt, rcm salt ppm

Rcm salt क्या है? Rcm salt vs tata salt के बीच क्या अंतर है? Rcm salt benefits क्या है? Rcm salt ppm, price क्या है?

Rcm salt  benefits, rcm salt vs tata salt, rcm salt ppm

आज हम बात करने का रहे हैं Rcm Salt कि जो कि हर घर में इस्तेमाल होता है। हम बात करेंगे Rcm Salt benefits पर और साथ में जानेंगे कि यह किस प्रकार बाज़ार में मिलने वाले अन्य नमक कि तुलना में ख़ास है। Rcm Products ने इस उत्पाद को लोगों कि जरूरत और उनकी सुविधा के लिए इस उत्पाद को निकाला है ताकि वे बाज़ार में मिलने वाले मिलावटी समान से बचे रहें।

हमारे शरीर को बहुत ही कम मात्रा में कुछ जरूरी न्यूट्रीएंट्स चाहिए होते हैं जिन्हें हम अपने भोजन से प्राप्त करते हैं। Rcm Salt भरपूर प्राकृतिक पोषक तत्वों से भरा हुआ है। इसमें वे सारे पोषक तत्त्व है जिसकी हमारे शरीर को आवश्यकता है।

नमक हमारे जीवन में एक अहम भूमिका निभाता है। यह एक स्वाद का प्रतीक है। अगर इसे खाने में ना डाला जाए तो खाने का कोई अस्तित्व नहीं रह जाता है। नमक का इस्तेमाल दुनिया में सबसे ज्यादा होता है क्योंकि नमक ओर मीठा यह दो फ्लेवर है सबसे ज्यादा खाए जाते हैं।

What is Salt?

अब हम जानेंगे साधारण नमक के भौतिक गुणों के बारे में आइए जानते हैं।

शुद्ध नमक रंगहीन होता है लेकिन लोहे के अपद्रव्यों के कारण इसका रंग पीला या लाल हो जाता है। इसका द्रवणांक 804 डिग्री सें.(सेल्सियस) आपेक्षिक घनत्व 2.16 अपवर्तनांक 10.542 तथा कठोरता 2.5 है। यह ठंडे जल में सुगमता से घुल जाता है और गरम जल में इसकी विलेयता कुछ बढ़ जाती है। हिम के साथ नमक को मिला देने से मिश्रण का ताप -21 डिग्री सें. तक गिर सकता है।

तो यह थी भौतिक गुणों कि व्याख्या अब हम एक नजर इनके स्त्रोत पर भी डालेंगे कि नमक कहां कंहा से प्राप्त किया जाता है।

नमक समुद्र, प्राकृतिक नमकीन जलस्रोतों से प्राप्त होता है। विश्व के विभिन्न भागों में इन स्रोतों के विशाल भंडार हैं। नमक की कई सौ फुट तथा कहीं-कहीं कई हजार फुट तक मोटी तहें पर्वतों के रूप में एवं धरातल के नीचे पाई जाती हैं।

Rcm Business क्या है, Rcm Business Marketing Plan क्या है? जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 

प्राकृतिक नमकीन स्रोत के अंतर्गत नमकीन जल की झीलें, कुएँ तथा स्रोत आते हैं। नमकीन जल की ये झीलें किसी समय महासागरों के ही भाग होती होंगी जिससे जल में नमक का अंश पर्याप्त बढ़ गया है। इस जल को वाष्पित कर सुगमता से नमक प्राप्त किया जाता है। समुद्र के जल में नमक प्रचुर मात्रा में विद्यमान है।

Rcm Salt Ingredients

Rcm Salt में प्राकृतिक मिनरल्स कि भरमार है आइए उनके बारे में जानते हैं।

कैल्शियम: यह नमक में 24 mg उपस्थित होता है। कैल्शियम हमारे हड्डियों के विकास में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कैल्शियम आपके मांशपेशियों के हिलने डुलने के लिए एक अहम भूमिका निभाता है।

कॉपर : कॉपर Rcm Salt में 0.030 mg उपस्थित होता है। यह हमे हृदय और हड्डियों कि बीमारी से बचाता है। यह शरीर में कैल्शियम कि खपत को बढ़ाता है। कॉपर हमारे तंत्रिका कोशिका के लिए भी जरूरी होता है।

फ्लोराइड : फ्लोराइड इस नमक में 2 mcg (माइक्रोग्राम) उपस्थित होता है। यह हमारे दांतो को कैविटी नामक बीमारी से बचाता है।

आयरन : यह इस नमक में 0.33g होता है। आयरन हमारे शरीर के लिए बेहद आवश्यक होता है। यह हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन बनाने में सहायता करता है। आयरन कि कमी से एनीमिया बीमारी का सामना करना पड़ सकता है।

मैग्नीशियम : मैग्नीशियम Rcm Salt में 1 mg होता है। मैग्नीशियम रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

मैंगनीज़ : यह इस नमक में 0.100 mg मात्रा में उपस्थित है। यह इन्फ्लेमेशन को दूर करता है और कैंसर से बचाता है।

पोटैशियम : यह इस नमक में 8mg तक पाया जाता है। पोटैशियम हमारे शरीर में ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है।

सोडियम : यह Rcm Salt में 38758 mg तक पाया जाता है। नमक खासतौर से सोडियम और क्लोराइड से मिलकर बनता है। सोडियम हमारे शरीर में पानी कि मात्रा को बनाए रखता है।

ज़िंक : यह इस नमक में 0.10 mg तक पाया जाता है। यह शरीर कि रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

तो दोस्तो यह थी Rcm Salt के न्यूट्रीएंट्स कि जानकारी अब हम आपको Rcm Salt benefits कि जानकारी उपलब्ध करवाएंगे आइए 

Rcm Salt Benefits

नमक कि उचित मात्रा हमारे शरीर को अनेकों लाभ प्रदान करती है लेकिन अगर इसकी मात्रा अधिक हो जाए तो यह शरीर के विनाश को करें भी बन जाता है। इसलिए नामक का इस्तेमाल उचित मात्रा में करें और जो लोग बीमारियों से जूझ रहे हैं उन्हें तो नमक से परहेज़ कारण चाहिए।

Rcm Salt Review

त्वचा के लिए फायदेमंद : नमक में मैग्नीशियम, कैल्शियम, सोडियम पाए जाते हैं। ऐसे में हाथों और पैरों पर नमक के पानी का प्रयोग करने से ये त्चवा के रोम छिद्रों में प्रवेश करते हैं। इससे आपकी स्किन की ऊपरी सतह साफ होती है और स्वस्थ व चमकदार बनती है. इसी तरह यदि आपके हाथ या पैर गंदे हो रहे हों तो भी आप सूखे Rcm Salt से रगड़कर इन्हें साफ कर सकते हैं, लेकिन ध्यान रहे आपके हाथ व पैर फटे हुए न हों।

आयोडीन की कमी को दूर करें : आयोडीन युक्त नमक का सेवन करने से शरीर में आयोडीन की कमी नहीं होती। आयोडीन की कमी से शरीर की थायराइड ग्रंथि सही से काम नहीं करती। साथ ही आयोडीन नमक शरीर में पाए जाने वाले गुड कोलेस्ट्रॉल को भी बढ़ाता है। आयोडीन की कमी से आपके शरीर में हाइपोथायरायडिज्म जैसी बीमारी हो सकती है।

 प्रेग्नेंसी में सहायक : महिलाओं के लिए जरूरी है कि वे खुद की और गर्भ में पल रहे बच्चे की देखभाल के लिए स्वास्थ डायट लें। इस समय जरूरी कि आपके शरीर में आयोडीन की पर्याप्त मात्रा बनी रहे। डॉक्टारों की तरफ से भी सलाह दी जाती है कि गर्भवती महिलाओं को स्वस्थ आहार के साथ ही नमक का भी सेवन करना चाहिए।

पाचन क्रिया : उचित मात्रा में पानी में नमक मिलाकर पीना पेट के लिए फायदेमंद रहता है। इससे पेट के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है। यदि आपको या आपके घर में किसी को पाचन संबंधी समस्या है नमक के पानी का सेवन अवश्य करना चाहिए।

बैक्टीरिया को दूर करें : Rcm Salt पानी से नहाने से त्वचा से जहरीले तत्व बाहर निकल जाते हैं। गर्म पानी त्वचा के रोम छिद्रों को खोलता है। इससे मिनरल त्वचा के अंदर गहराई तक जाकर सफाई करते हैं. नमक का पानी जहरीले और नुकसान देने वाले तत्वों और बैक्टीरिया को त्वचा से दूर करता है।

दर्द और ऐंठन से राहत : आपके शरीर और मांसपेशियों में अक्सर ऐंठन और दर्द की शिकायत रहती है तो आपको नमक के पानी से नहाने से आराम मिलेगा। यदि आप ठंडे इलाके में रहते हैं तो आप हफ्ते में दो-तीन बार नमक के पानी से नहा सकते हैं। नमक के पानी से नहाने से गठिया, शुगर या अन्य किसी चोट के कारण होने वाली ऐंठन को भी दूर किया जा सकता है। नमक के पानी के सेवन से मांसपेशियां मुलायम हो जाती हैं।

सूजन में आराम : आपके हाथ या पैर किसी चोट या घाव के कारण सूजन आ जाती है तो गर्म में नमक मिलाकर सिकाई करने से आपको आराम मिलेगा। लेकिन सूजन आने का कोई और कारण है तो आपको इसमें चिकित्सक का परामर्श अवश्य लेना चाहिए।

हड्डियों की बीमारी से बचाव :  नमक पानी हड्डियों की खराबी से संबंधित बीमारी यानी ऑस्टियोआर्थराइटिस और नसों की सूजन यानी टेंडीनिटिस के इलाज में भी कारगर है। नमक का पानी सूजन को कम करता है और आपको दर्द से राहत देता है।

खुजली व अनिद्रा से छुटकारा : नमक के पानी से नहाने से खुजली और अनिद्रा से राहत मिलती है। मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी नमक के पानी से नहाना अच्छा है। इससे नहाने से आप ज्यादा शांत, खुश और आराम महसूस करेंगे। पानी में नमक मिलाकर नहाने से तनाव भी दूर होता है।

गले के लिए : अगर आपके गले में खराश का खांसी से परेशान हैं तो आप पानी में एक चम्मच नमक दाल कर उसके गरारे करें आपको गले में आराम मिलेगा।

तो यह थे Rcm salt के कुछ अदभुद फ़ायदे अब हम बात करेंगे नमक के अधिक सेवन के नुकसान के बारे में।

Rcm Harit Sanjivani क्या है, जानने के लिए यहाँ पर क्लिक कीजिए ?

Excessive salt intake Side Effects

ज्यादा नमक खाने से आपको अनेकों बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। आहार आप नमक को जरूरत से अधिक मात्रा खाते हैं तो आप जल्द ही किसी ना किसी बीमारी के शिकार होने वाले हैं। अगर नमक खाने में ज्यादा हो जाए तो यह खाने का स्वाद भी बिगाड़ देता है।

तो सोचिए अगर यह आपके शरीर में ज्यादा मात्र में हो जाते तो कितना नुक़सान कर देगा। आइए अब हम कुछ नजर नमक के अधिक सेवन से होने वाले नुकसान पर डालते हैं:-

नमक का ज्यादा सेवन दिल की बीमारियों के खतरे को बढ़ा देता है। इसलिए दिल को सेहतमंद रखने के लिए खाने में नमक की मात्रा का संतुलन बनाए रखें।

ज्‍यादा नमक हाई बीपी का कारण बनता है इसलिए अपने खाने में नमक कम डालें। अगर कभी भी खाने में नमक कम लगे तो इसे अलग से खाने में डालकर सेवन करने से बचें।

अधिक नमक से शरीर में कोशिकाओं को बेहद नुक़सान पहुंचेगा। कोशिकाओं मे मौजूद पानी सूखने लगेगा और वे अंत में सिकुड़कर खतम हो जाएंगे।

अधिक नमक की मात्रा से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। शरीर में डिहाइड्रेशन की समस्या नहीं हो इसके लिए आप नमक की संतुलित मात्रा लेने के साथ भरपूर पानी पीएं।

शरीर में नमक की मात्रा ज्यादा होने पर पानी जरूरत से ज्यादा जमा हो जाता है। यह स्थिति वाटर रिटेंशन या फ्लूड रिटेंशन कहलाती है। ऐसी स्थिति में हाथ, पैर और चेहरे में सूजन हो जाती है।

ज्यादा नमक के सेवन से यह आपको मोटापे का शिकार बना सकता है। अगर आप ज्यादा नमक खाते है तो यह आपके शरीर में खाने को मेटाबॉलाइज करें वाले एंजाइमों को मार देगा जिस से आप के शरीर में खाना वसा के रूप में जमा हो जाएगा और आप मोटापे के शिकार हो जाएंगे।

नमक मे आयोडीन का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन अगर उसमे आयोडीन उचित मात्रा में उपस्थित ना हो तो आपको घेंघा रोग हो सकता है ऐसे में आपके गले में नीचे एक थैले जैसे आकार का एक गुच्छा बन जाएगा जो आओगे चल कर आपको बेहद नुक़सान पहुचायेगा।इसलिए नमक को आयोडीन युक्त ही इस्तेमाल करें।

यह थे नमक के अधिक सेवन के कुछ नुक़सान तो अब सवाल यह है कि आखिर नमक हमे कितनी मात्रा में लेना चाहिए आइए जानते हैं:-

Proper quantity of intake of Salt

नमक का सेवन आपको सोच समझ कर करना चाहिए क्योंकि अगर आप इसका कम इस्तेमाल करते हैं तो यह गुणकारी है लेकिन अगर आप इसका इस्तेमाल अधिक करते हैं तो यह आपके लिए विनाशकारी है। आइए जानते हैं कि नमक का इस्तेमाल कितना करना चाहिए।

अधिकांश लोग बहुत अधिक नमक का उपभोग करते हैं। प्रति दिन औसतन 9 से 12 ग्राम तक।वयस्कों के लिए प्रति दिन 5 ग्राम से कम नमक का सेवन सही है।

डॉक्टर नमक कि 1500 से 2300 mg तक कि मात्रा को सही बताते हैं।अगर आप 1.5g से 2.3g नमक का सेवन एक दिन में करते हैं तो आपको घबराने कि आवश्यकता नहीं है।

हृदय संबंधित मरिजो के लिए यह मात्रा ओर भी कम है उनके लिए 0.8g से 1g तक नमक का सेवन सही होता है।

यह थी नमक के सेवन कि उचित मात्रा अब हम ना करेंगे Rcm salt price कि जानेंगे यह आपको किस दाम में उपलब्ध होगा 

Rcm Salt Price

Rcm Salt price लगभग आपको 18 रुपए में मिल जाएगा आप इसे अपने नजदीकी पिकअप सेंटर से प्राप्त कर सकते हैं और एक स्वस्थ जीवन का लाभ उठा सकते हैं।

Rcm Salt Price MRP - Rs. 18

Rcm salt Discount Price - Rs. 15

Rcm salt Business Voume - 5

अन्य Rcm Business New Product List जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 

Rcm Salt vs Tata Salt

क्या आप Rcm Salt vs Tata Salt के बीच का अंतर जानते हैं। इस विषय में हम आपके लिए एक विडिओ के माध्यम से उन दोनों के बीच के अंतर को सपष्ट करने जा रहें। हैं।

Rcm Salt vs Tata Salt के बीच अंतर जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें।

Conclusion

नमक हमारे जीवन में एक मूलभूत जरूरत है जिसे कोई और पदार्थ पूरी नहीं कर सकता ऐसे में हमे चाहिए कि हम नमक का उचित इस्तेमाल करें और एक स्वस्थ जीवन व्यतीत करें।

यह थी Rcm salt के बारे में संपूर्ण जानकारी हमे आशा है आपको इसके लाभ मिला होगा ओर आप इसे अपने मित्रो ओर सगे संबंधियों के साथ जरूर साझा करे। आप अपने घर में इस Rcm salt का जरूर इस्तेमाल करें।